Discover latest Indian Blogs Gram Pradhan ka Karyakal Kya Hai? ग्राम प्रधान का कार्यकाल कितना होता है ? – Hindi Pdf Books

Gram Pradhan ka Karyakal Kya Hai? ग्राम प्रधान का कार्यकाल कितना होता है ?

मित्रों इस पोस्ट में बताया गया है कि Gram Pradhan ka Karyakal Kya Hai? आप इस पोस्ट को जरूर पढ़ें और फिर आप जान जाएंगे कि ग्रामप्रधान का कार्यकाल कितना होता है ? 

 

 

 

Jane Gram Pradhan ka Karyakal Kya Hai? ग्राम प्रधान का कार्यकाल कितने वर्ष का होता है ?

 

 

 

[lwptoc]

 

 

 

भारतवर्ष के लोकतंत्र की पहली पाठशाला ग्राम प्रधान या सरपंच के चुनाव से ही शुरू होती है और लोकतंत्र की इस पाठशाला से निकले हुए लोग आगे बढ़ते हुए क्रमवार से ब्लाक से लेकर जिला परिषद विधान सभा होते हुए लोकसभा तक पहुंचकर भारतवर्ष का प्रतिनिधित्व करने का सुअवसर और सौभाग्य प्राप्त करते है।

 

 

 

 

 

उत्तर भारत में ग्राम सभा का चुनाव होता है। ग्राम सभा का चुनाव जीतने वाले उम्मीदवार को ग्रामप्रधान कहा जाता है। उसे बहुत सारे अधिकार प्राप्त होते है।

 

 

 

 

ग्राम प्रधान को कई जगहों पर प्रधान या फिर सरपंच कहा जाता है। इनका कार्यकाल 5 वर्ष का होता है। इसमें महिलाओ और अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षण भी दिया जाता है।

 

 

 

 

वह ग्राम का प्रथम नागरिक भी होता है। ग्राम का विकास करना उसकी जिम्मेदारियों में शामिल होता है। सरकारी योजना का समुचित लाभ ग्राम वासियो को मिले इसके लिए ग्राम प्रधान को प्रयास करना होता है।

 

 

 

 

ग्राम प्रधान का चुनाव ग्राम के रहने वाले जिनकी उम्र 18 वर्ष से ऊपर या 18 वर्ष होती है, अपने ‘मत’ देकर करते है। भारत के पश्चिम और दक्षिण राज्यों में सरपंच का चुनाव होता है।

 

 

 

 

उस चुनाव की प्रक्रिया भी वही होती है जो ग्राम प्रधान की होती है। ग्राम प्रधान या सरपंच का कार्यकाल 5 वर्ष का होता है। लेकिन किसी कारण वस समय से पूर्व या समय के बाद में भी चुनाव कराए जा सकते है।

 

 

 

 

ग्राम प्रधान या सरपंच के साथ ही ग्राम पंचायत के अन्य सदस्यों का कार्य काल भी 5 वर्ष का होता है। ग्राम के विकास के लिए ग्राम प्रधान पंचायत के अन्य सदस्यों से सुझाव लेकर ही कोई कार्य करता है।

 

 

 

 

भारत की 70 %आबादी ग्रामीण परिवेश में निवास करती है। उन्हें अपनी व्यवस्था सुचारु रूप से चलाने के लिए संविधान के अनुच्छेद 243 में व्यवस्था प्रदान की गई है।

 

 

 

ग्राम सभा क्या है? ग्राम पंचायत क्या होती है ?

 

 

 

एक ग्राम सभा में 200 व्यक्तियों का होना आवश्यक है। किसी गांव के व्यक्तियो को जिनका नाम वोटर लिस्ट में दर्ज है, उनके समूह को ही ग्राम सभा कहते है।

 

 

 

1000 तक की आबादी वाले गावो में 10 ग्राम पंचायत सदस्य, 2000 तक की आबादी वाले गावो में 11 और 3000 तक की आबादी वाले गावो में 15 सदस्य होते है।

 

 

 

 

नियम के अनुसार ग्राम सभा की बैठक साल में दो बार अवश्य होनी चाहिए। ग्राम सभा की बैठक बुलाने का अधिकार ग्राम प्रधान को होता है और इसकी नोटिस 15 दिन पहले दी जाती है और बैठक में कुल सदस्यों की संख्या के 5 वे भाग की उपस्थिति आवश्यक होती है।

 

 

 

 

इसके अलावा अगर 1/3 सदस्य किसी भी समय हस्ताक्षर करके लिखित रूप में बैठक बुलाने का आग्रह करते है तो ग्राम प्रधान को बैठक आयोजन करनी होती है।

 

 

 

 

ग्राम प्रधान किसे कहते हैं ?

 

 

 

ग्राम का मुखिया या प्रधान, सरपंच जिसका चुनाव ग्राम वासियो के द्वारा निर्धारित होता है उसे ही ग्राम प्रधान कहते है।

 

 

 

Gram Panchayat Pradhan Salary ग्राम प्रधान का वेतन कितना होता है?

 

 

ग्राम प्रधान को वेतन के रूप में 3500 रुपये मिलते है। लेकिन यात्रा भत्ता और अन्य खर्च मिलाकर ग्राम प्रधान को प्रतिमाह 15000 रुपये प्राप्त होते है।

 

 

 

ग्राम पंचायत का गठन 

 

 

 

ग्राम पंचायत या अध्यक्ष और अन्य सदस्यों को पंचायत कहते है। इनका कार्यकाल 5 वर्ष का होता है।

 

 

 

चुनाव की प्रक्रिया 

 

 

 

ग्राम का जो भी व्यक्ति ‘प्रधान पद’ का चुनाव लड़ने का इक्षुक होता है तो उसे एक तय अवधि के भीतर आवेदन पत्र जिले के निर्वाचन अधिकारी के समक्ष प्रस्तुत करना होता है।

 

 

 

 

निर्वाचन अधिकारी के द्वारा सत्यापन के उपरांत प्रधान पद के उम्मीदवार को एक चुनाव चिन्ह प्रदान किया जाता है। प्रत्याशियों के द्वारा प्रचार तय अवधि में किया जाता है।

 

 

 

 

तदुपरांत मतदान कराने के पश्चात जिस प्रत्याशी को सर्वाधिक मत प्राप्त होता है उसे ही ग्राम प्रधान के पद प्राप्त होते है। उसे निर्वाचन अधिकारी के द्वारा प्रमाण पत्र प्रदान किया जाता है।

 

 

 

ग्राम पंचायत के शपथ 

 

 

 

चुनाव में विजयी उम्मीदवार और अन्य सदस्यों को पीठासीन अधिकारी या ग्राम पंचायत अधिकारी के द्वारा शपथ दिलाई जाती है।

 

 

 

ग्राम प्रधान के कार्य 

 

 

 

1. ग्राम पंचायत कृषि कार्य की रूप रेखा का निर्धारण करती है और कृषि संबंधी व्यवधानों का अपने स्तर पर निवारण करने का प्रयास करती है।

 

 

2. ग्राम वासियो की हर सुविधा के लिए ग्राम प्रधान अधिकारियो से वार्तालाप के द्वारा ही विकास का मार्ग प्रशस्त करता है। ग्राम सभा में प्राथमिक विद्यालय में निरीक्षण करके छात्रों के बीच सरकार की योजनाओ को मूर्त रूप देने का कार्य करता है।

 

 

3. ग्रामीण स्तर पर चिकित्सा सुविधा प्रदान करने में ग्राम प्रधान का सहयोग होता है।

 

 

4. ग्राम वासियो को पेय जल और सिचाई की असुविधा न होने पाए इसके लिए ग्राम प्रधान द्वारा सरकार द्वारा प्रदत्त नलकूपों की सुरक्षा सुनिश्चित की जाती है।

 

 

5. पशु धन संबंधी विकास के कार्य ग्राम प्रधान के द्वारा ही कराए जाते है।

 

 

6. हर प्रकार की पेंशन को स्वीकृत कराने और पेंशन को सुचारु रूप से वितरण का कार्य ग्राम प्रधान के द्वारा संपन्न होता है।

 

 

7. सरकारी राशन की दुकान का आवंटन और निरस्तीकरण का अधिकार भी ग्राम प्रधान के पास रहता है। जिसका वह उचित ढंग से उपयोग करता है।

 

 

 

ग्राम प्रधान के अधिकार और कार्य तो कई है यहाँ मुख्य कार्य का ही उल्लेख किया गया है।

 

 

 

कैसे हटाए जा सकते है ग्राम प्रधान और उप प्रधान 

 

 

 

Gram Pradhan ka Karyakal Kya Hai

 

 

 

अगर ग्राम प्रधान या उप प्रधान अपना कार्य अच्छे से नहीं कर रहे है तो उन्हें हटाया जा सकता है। इसके लिए लिखित सूचना जिला पंचायत राज अधिकारी को दी जाती है और उसमे ग्राम पंचायत के आधे सदस्यों के हस्ताक्षर होने आवश्यक है और किस कारण से ग्राम प्रधान को पद मुक्त करना है उसका भी उल्लेख होना आवश्यक है और हस्ताक्षर करने वाले सदस्यों में कम से कम तीन का जिला पंचायती राज अधिकारी के समक्ष प्रस्तुत होना आवश्यक है।

 

 

 

 

 

उसके बाद 30 दिन के भीतर जिला पंचायती राज अधिकारी गांव में बैठक बुलाएगा और इसकी सूचना 15 दिन पहले ही दे दी जाएगी। बैठक में उपस्थित और वोट देने वाले सदस्यों के 2/3 के बहुमत से ग्राम प्रधान और उप प्रधान को हटाया जा सकता है।

 

 

 

 

 

मित्रों यह पोस्ट Gram Pradhan ka Karyakal Kya Hai? आपको कैसी लगी जरूर बताएं और इस तरह की दूसरी पोस्ट के लिए इस ब्लॉग को सब्स्क्राइब जरूर करें और इसे शेयर भी करें।

 

 

 

इसे भी पढ़ें —–

 

 

1- Cash Memo Kya Hota Hai? कैश मेमो क्या होता है ? जरूर जाने

 

2- Hindi Ko English Mein Kya Kahate Hain / हिंदी को अंग्रेजी में क्या कहते हैं?

 

3- Online Meaning in Hindi / ऑनलाइन को हिंदी में क्या कहते हैं ?

 

 

 

Leave a Comment