Wednesday, 28 October, 2020

{ PDF } 10 + Psychology Book PDF in Hindi Free Download


Psychology Book PDF in Hindi Free

Psychology Book PDF in Hindi Free मित्रों इस पोस्ट में Best Psychology Books in Hindi PDF दी गयी हैं।  आप इन्हे नीचे की लिंक से Free Download कर सकते हैं।

 

 

 

 

1- विकास्तमक मनोविज्ञान  Vikasatmak Manovigyan Free Download

 

2- मनोविज्ञान और शिक्षा   Manovigyan Aur Shiksha Free PDF

 

3- मनोविज्ञान मीमांशा Manovigyan Meemansa Free Download

 

4- व्यावहारिक मनोविज्ञान Vyavaharik Manovigyan Free PDF

 

5- मनोविज्ञान और शिक्षाशास्त्र  Manovigyan Aur Shikshashastra PDF

 

6- बेहतर जीवन के लिए मनोविज्ञान Behtar Jivan Ke Liye Manovigyan

 

7- जाति  और मनोविज्ञान Jati Aur Manovigyan PDF Free Download

 

8- आधुनिक मनोविज्ञान Aadhunik-Manovigyan Free Download

 

9- बाल मनोविज्ञान Bal-Manovigyan PDF Free

 

10- मनोविज्ञान  Manovigyan PDF Free Download

 

 

 

 

सिर्फ पढ़ने के लिए ——–जिस प्रकार सबके साथ रहने पर भी मानव अकेला रहता है और अकेलेपन में कुछ पल के लिए शांति ढूंढता है और वह शांति मिलती भी है। लेकिन अपने स्वभाव के कारण मानव फिर से झुण्ड में जा मिलता है जिससे वह बिछड़ गया था। लेकिन उसे मिलता क्या है कोलाहल एक दूसरे को पीछे करने की चाहत।

 

 

 

 

जितने भी बड़े-बड़े मनीषी हुए है उनके जीवन में झांकिए तो आप को शांति जरूर मिलेगी चाहे वह कुछ पल के लिए ही क्यूं न हो। ध्यान देने वाली बात यह है कि शांति के बाद ही रचना का सृजन होता है।

 

 

 

 

पंकज को हमेशा ही कोई न कोई विचार उसे उद्विग्न किए रहता था। उसके सभी दोस्त हमेशा चिढ़ाया करते थे क्योंकि वह उन सभी के जैसा नहीं था। हर क्षण खा पीकर मस्त रहते थे, वह हमेशा विचारों में डूबा रहता था। एक समय कुछ लोग आपस में किसी बात पर बहस कर रहे थे।

 

 

 

 

पंकज भी वहां खड़ा हो गया, उन लोगों की बातें सुनी और आगे बढ़ गया। दूसरे दिन म. न. पा. ऑफिस में एक पत्र आया हुआ था। जिसमे लिखा हुआ था, ” अगर आप लोग सड़क की कठिनाइयों को दूर नहीं करेंगे तो जनता विद्रोह कर सकती है। ” उसके बाद सभी कठिनाइयों का निवारण हो गया क्योंकि यह प्रयास पंकज का ही था।

 

 

 

 

 

रोड लाइट की समस्या हो, पानी की समस्या हो, व्यापारियों की समस्या हो पंकज के अकेले के प्रयास से सबका निवारण हो जाता था।

 

 

 

 

भावार्थ – शांति से ऊर्जा मिलती है जिससे सभी कार्य हो जाते है।

 

 

 

 

मित्रों यह Psychology Book PDF in Hindi Free आपको कैसी लगी जरूर बताएं और Psychology in Hindi PDF Download की तरह की दूसरी बुक्स और जानकारियों के लिए इस ब्लॉग को सब्स्क्राइब जरूर करें और इसे शेयर भी जरूर करें।

 

 

 

1- { PDF } 25 + Munshi Premchand Stories in Hindi PDF Free Download

 

2- { PDF } Ek Yogi ki Atmakatha in Hindi PDF Download / योगी की आत्मकथा

 

3- { PDF } The Alchemist Hindi PDF Free Download By Paulo Coelho

 

 

 

0 comments on “{ PDF } 10 + Psychology Book PDF in Hindi Free Download

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *